छत्तीसगढ़बिलासपुर संभाग

जिला आयुर्वेद कार्यालय ने आरटीआई कार्यकर्ता को जानकारी नही दी, राज्य सूचना आयोग से शिकायत

Advertisement

बिलासपुर। शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय/चिकित्सालय के जन सूचना अधिकारी आरटीआई कार्यकर्ता को जानकारी की बजाए तृतीय पक्ष की आपत्ति का हवाला देकर आवेदक को जानकारी नही दे रहे है। बड़ी बात यह है कि जिस विषय को लेकर आवेदक ने आरटीआई के तहत जानकारी मांगी है उसी विषय के अंतर्गत पहले भी आरटीआई कार्यकर्ता जानकारी प्राप्त कर चुके है लेकिन अब जानकारी देने से कतरा रहे है भर्ती प्रक्रिया में फर्जीवाड़ा के अनेकों मामले को लेकर जिला आयुर्वेद महाविद्यालय अस्पताल पर संदेहो का घेरा छटने का नाम नही ले रहा है।

बता दें कि मुंगेली जिले के एक आवेदक ने शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय/चिकित्सालय सरकंडा बिलासपुर कार्यालय में एक सूचना के अधिकार के तहत् आवेदन दिया था, जिसमे 2013=14 में चतुर्थ श्रेणी के पद पर पदस्थ कर्मचारियों का नियुक्ति से संबंधित आवेदन व आवेदन पत्र में संलग्न सम्पूर्ण दस्तावेजों की मांग की गई थी, लेकिन विभाग के आला अधिकारी जानकारी देने से कतरा रहे हैं, तृतीय पक्ष की अनुमति नहीं होने का हवाला दिया जा रहा है, जबकि हैरानी वाली बात यह है कि कुछ महीने पहले जिला आयुर्वेद अधिकारी कार्यालय में इसी प्रकार का आवेदन देने पर जानकारी विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गई थी, लेकिन इनके द्वारा जानकारी देने पर टालमटोल किया जा रहा है, नियमो का हवाला दिया जा हैं, एक ही विभाग के अन्तर्गत अलग अलग नियम निकाला जा रहा है जो हास्यास्पद सा प्रतीत होता है, और एक बड़े फर्जीवाडे को दर्शाता हैं।
इस पूरे मामले की शिकायत आवेदक द्वारा राज्य सूचना आयोग और संचालक आयुष रायपुर से कर दी गई है।

बता दें कि कार्यालय में संधारित दस्तावेज पेन कार्ड,आधार कार्ड, बैंक पास बुक को छोड़कर कोई भी दस्तावेज गोपनीय मे नहीं आता है, और किसी दस्तावेज के लिए व्यक्ति विशेष से अनुमति की आवश्यक नहीं होता है,

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button