छत्तीसगढ़बिलासपुर संभागरायपुर संभागविविध

हेल्थ मिनिस्टर का ऐलान, स्वास्थ्य क्षेत्र के विस्तार और डॉक्टर हित के लिए सरकार करेगी सहायता, आईएमए का 19″वां सम्मेलन संपन्न

बिलासपुर। आईएमए के 19 वें दो दिवसीय प्रदेशस्तरीय सम्मेलन के समापन समारोह 25 फरवरी को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री अरुण साव और स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल,सुशांत शुक्ला अतिथि के रूप में शामिल हुए।
सम्मेलन के समापन अवसर पर उपमुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।

24-25फरवरी को तिफरा के एक निजी होटल में आयोजित इस गरिमामय कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि गरीबों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिले ये हमारी प्राथमिकता है।
श्री साव ने कहा कि वर्तमान में बढ़ती बीमारियों के कारण डॉक्टरों की जरूरत बढ़ी है और ऐसे में उनकी जिम्मेदारी भी बढ़ी है। आईएमए की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि ये एक ऐसा संगठन है जो चिकित्सा क्षेत्र में जन कल्याण के लिए काम कर रहा है।

उक्त अवसर पर प्रदेश शासन के स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने कहा कि हमारा लक्ष्य चिकित्सा क्षेत्र में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी को पूरा करना और आयुष्मान योजना के तहत गरीबों को शत प्रतिशत इलाज की सुविधा प्रदान करना है ।
उन्होंने कहा कि धरती के भगवान डॉक्टर ही होते हैं। राज्य शासन द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार और डॉक्टरों के हित के लिए हर तरह का सहयोग दिया जायेगा।
श्री जायसवाल ने राज्य शासन द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार की दिशा में विशेष कार्य किये जायेंगे।

वही बेलतरा विधायक सुशांत शुक्ला ने इस अवसर पर कहा कि डॉक्टरों के भरोसे किसी भी प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं का बेहतर क्रियान्वयन हो सकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतरी के लिए सरकार तत्परता से काम कर रही है।

आज द्वितीय दिवस आईएमए के चैयरपर्सन डॉ अंकित ठकराल, डॉक्टर ओम मखीजा ,डॉ माया दुबे, डॉ श्वेता घाटगे ,डॉ अशोक अग्रवाल ,डॉक्टर राजीव क्षेत्रपाल, डॉक्टर भावना रायजादा रही हैं।स्टेट कॉन्फ्रेंस में प्रदेश के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर स्मिथ श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश में मेकाहारा में हृदय के गंभीर रोगों का इलाज किया जा रहा है । हृदय रोग के कई मामलों की उन्होंने विस्तृत जानकारी दी। प्रदेश सहित अन्य प्रांत के आये हुए डॉक्टरों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर मुख्य रूप से डॉ नितिन जुनेजा, डॉक्टर बद्री जायसवाल ,डीआर जयसवाल ,डॉ आर एस शर्मा,डॉक्टर अभिजीत राय ज्यादा,डॉ ललित मखीजा,डॉ अशोक कुमार डॉ मनीष बुधीया,डॉक्टर अखिलेश ,डॉक्टर हेमंत चटर्जी,डॉक्टर असलम आरिफ डॉक्टर एल सी मंढ़रिया, डॉक्टर के के साव, डॉ ओम माखीजा, डॉ प्रभात श्रीवास्तव, डॉ संदीप तिवारी, डॉ एस के वर्मा,डॉ संजना तिवारी ,डॉ प्रशांत द्विवेदी ,के अलावा प्रदेश भर के लगभग 400 चिकित्सक इस सेमिनार में शामिल हुए।
डॉक्टरों ने इस अवसर पर गंभीर मरीजों के इलाज को लेकर नई तकनीक की जानकारी दी और डॉक्टरों की स्वास्थ्य सेवाओं के संचालन में आने वाली समस्या को लेकर भी चर्चा की गई।

आईएमए के स्टेट प्रेसिडेंट डॉ विनोद तिवारी ने प्रान्त अध्यक्ष आई एम ए छत्तीसगढ़ अध्यक्ष के रूप में शपथ लिए आगे उन्होंने बताया कि 2 दिन के इस सम्मेलन में गरीब एवं आदिवासी दूरस्थ क्षेत्रों में मरीजों का इलाज करने के लिए योजना बनाई गई है, जिसमें वनवासी कल्याण आश्रम जशपुर तथा आदिवासी क्षेत्रों में शिविर लगाकर मरीजों का निशुल्क इलाज किया जाएगा। जांजगीर जिले के कुष्ठ रोग अस्पताल में महिलाओं के कैंसर और गंभीर रोग की जांच शिविर लगाकर की जाएगी। कार्यक्रम में नागपुर के डॉक्टर वेद मिश्रा हेल्थ इंश्योरेंस और आयुष्मान भारत योजना पर विस्तृत जानकारी दी उन्होंने कहा कि हेल्थ इंश्योरेंस और आयुष्मान भारत दोनों एक तरह ही है। हालांकि हेल्थ इंश्योरेंस प्राइवेट सेक्टर से प्रोवाइड किया जाता है और प्रीमियम के रूप में एक निश्चित राशि सुविधा के लिए ली जाती है। आयुष्मान भारत सरकारी व निशुल्क स्वास्थ्य योजना है ।यदि इसका संचालन सही ढंग से हो रहा है तो की हर किसी को फायदा मिलेगा सरकारी अस्पतालों में इसके लिए सुविधा बढ़ानी चाहिए तभी सभी जरूरत मन को लाभ मिल पाएगा कार्यक्रम के प्रथम दिवस स्कूली बच्चों ने छत्तीसगढ़ी सांस्कृतिक कार्यक्रम की मनमोहक प्रस्तुति दी। अंत में कार्यक्रम के सफल आयोजन में फार्मा कंपनी , डॉ सी व्ही रमन,विश्विद्यालय,मीडिया के पत्रकार साथी, ऑटोमोबाइल सेक्टर एवं स्थानीय होटल के संचालक को विशेष सहयोग के लिए डॉक्टर विनोद तिवारी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button