छत्तीसगढ़बिलासपुर संभाग

शा. शारिरिक शिक्षा प्रशिक्षण महाविद्यालय पेंड्रा के खिलाफ छात्रों ने खोला मोर्चा, कलेक्टर से शिकायत

  • रिश्वत की मांग और पैसा लेकर मनमाना नंबर देने के आरोप
  • प्रबंधन की मनमानी और प्रताड़ना के आगे विद्यार्थी त्रस्त

पेंड्रा। शासकीय शारिरिक शिक्षा प्रशिक्षण महाविधालय पेंड्रा प्रबंधन की मनमानी, भ्रष्टाचार और प्रताड़ना के आगे छात्र मजबूर नज़र आते है। यहाँ पढ़ने वाले छात्रों का आरोप है कि जो खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करते है और नियमित कालेज आते है उन्हें सही अंक न देकर रिश्वत लेकर अंक दिया जाता है। पिछले कई वर्षों से काशन मनी वापस नही नही किया गया है। पुस्तकालय, क्रीड़ा और जिम शुल्क लेने के बाद भी कालेज प्रबंधन उचित सुविधा उपलब्ध नही करा रही है। प्रेक्टिकल परीक्षा के लिए प्रति प्रशिक्षणार्थियो से 500 रुपए शुल्क लिया गया है जो यूनिवर्सिटी की तय राशि से कही अधिक है। वही जो प्रशिक्षणार्थी कई खेल प्रतोयोगिताओ में भाग नही लेते थे उन्हें अधिक अंक दिया गया है। व्याप शिक्षक संजय केवर्त पर कालेज की जीम सामाग्री को निजी एकेडमी के उपयोग में लाए जाने के आरोप है। छात्रों ने कलेक्टर से इसकी लिखित शिकायत की है और दोषी शिक्षको पर कार्यवाही करके कालेज की दयनीय स्थिति को दुरुस्त करने की गुहार लगाई है।

इन पर लगे आरोप

शासकीय शारिरिक शिक्षा प्रशिक्षण महाविद्यालय के प्रिंसिपल आर.जे. लाल, माया बैनर्जी, व्याप शिक्षक संजय केवर्त और क्लर्क श्रीवास के खिलाफ छात्रों ने कलेक्टर को शिकायत पत्र सौपा है।

जिला शिक्षा अधिकारी के खिलाफ भी शिकायत

बता दे पेंड्रा के इस फिजिकल महाविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों ने जिला शिक्षा अधिकारी पर भी कार्यवाही करने की मांग रखी है। छात्रों का आरोप है कि जिला शिक्षा अधिकारी की संलिप्तता से कालेज प्रबंधन मनमानी कर रहा है और विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहा है।

नंबर देने 5 हजार मांगने के आरोप

छात्र धर्मेंद्र कुमार ध्रुव ने प्रिंसिपल सहित शिक्षक माया बैनर्जी और संजय केवर्त के द्वारा प्रेक्टिकल एक्ज़ाम में नंबर देने के ऐवज में 5 हजार रुपए रिश्वत मांगने के आरोप लगाए है छात्र धर्मेंद्र कुमार ध्रुव ने इसकी लिखित कलेक्टर से की है। अब देखना होगा कि शासकीय शारिरिक शिक्षा प्रशिक्षण महाविद्यालय प्रबंधन के खिलाफ प्रशासन क्या ऐक्शन लेती है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button